Wednesday, 13 November 2019, 10:24 AM

विश्‍व दिवस

यहां लड़कियां लगाती हैं रफ्तार की बाजी

Updated on 8 March, 2019, 5:20
यहां लड़कियां लगाती हैं रफ्तार की बाजी  दि पेट्रोलेट्स में एंट्री सिर्फ महिलाओं को मिलती है. वे एक से एक तेज रफ्तार मोटरबाइक पर होती हैं. उन्हें देखना बहुत ही दिलचस्प होता है. फेस्टिवल की जगह यह फेस्टिवल हाल ही में जर्मनी के बर्लिन शहर में 28 से 30 जुलाई तक आयोजित किया... आगे पढ़े

25 जनवरी 1950 को चुनाव आयोग का गठन

Updated on 25 January, 2019, 21:37
  दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र भारत में स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए आज ही के दिन भारत निर्वाचन आयोग की स्थापना हुई थी. 25 जनवरी को देश के मतदाताओं को जागरुक बनाने के लिए मतदाता दिवस के रूप में मनाया जाता है. 25 जनवरी 1950 को चुनाव आयोग का... आगे पढ़े

जीवन के पथ बदल देती है एक छोटी सी घटना

Updated on 24 October, 2018, 7:41
  महर्षि वाल्मीकि संस्कृत भाषा के आदि कवि और हिन्दुओं के आदि काव्य 'रामायण' के रचयिता के रूप में प्रसिद्ध है। महर्षि कश्यप और अदिति के नवम पुत्र वरुण (आदित्य) से इनका जन्म हुआ। इनकी माता चर्षणी और भाई भृगु थे। वरुण का एक नाम प्रचेत भी है, इसलिये इन्हें प्राचेतस्... आगे पढ़े

जिंदगी तो सिर्फ अपने कंधों पर जी जाती है, दूसरों के कंधे पर तो सिर्फ जनाजे उठाए जाते हैं

Updated on 28 September, 2018, 14:55
  नई दिल्ली:  28 सितंबर 1907 को जिला लायलपुर (अब पाकिस्तान में) के गांव बावली में जन्मे शहीदे आजम भगत सिंह की आज 111वीं जयंती है। अपने क्रांतिकारी विचारों और कदमों से अंग्रेजी हकूमत की जड़े हिला देने वाले भगत सिंह कहते थे, 'बम और पिस्तौल से क्रांति नहीं आती, क्रांति... आगे पढ़े

गूगल ने डूडल बनाकर मनाया शिक्षक दिवस

Updated on 5 September, 2018, 10:13
  नई दिल्ली: आज (5 सितंबर को) देशभर में टीचर्स डे मनाया जा रहा है. हमें शिक्षा देकर जीवन का मार्गदर्शन करने वाले शिक्षकों के प्रति गूगल ने खास तरीके से सम्मान प्रकट किया है. इस मौके पर गूगल ने एनिमेटेड डूडल बनाकर टीचर्स का सम्मान किया है. गूगल द्वारा तैयार... आगे पढ़े

इतिहास में एक उज्वल नाम वीर दुर्गादास राठौर

Updated on 13 August, 2018, 15:44
वीर दुर्गादास राठौर मारवाड़ के इतिहास में एक उज्वल नाम है. ठाकुर आसकरण जी राठौर के पुत्र दुर्गादास का जन्म १३ अगस्त १९६८ (श्रावण शुक्ल १४ , संवत १६९५)को सलवा कलन नमक गांव में हुआ था. उनकी निर्भीकता से प्रभावित होकर एक बार महाराजा जसवंत सिंह ने कहा था “... आगे पढ़े

बड़ा ही सादा और सरल होता है आदिवासियों का जीवन

Updated on 9 August, 2018, 22:40
विश्व आदिवासी दिवस पर विशेष - -------------------------------- ---- गहरा सरोकार,गहरी संवेदना - 1960 -70 का दशक। अवसर आदिवासी विवाह का। गाँव की धूल भरी गली में भोजन के लिए बैठी हुई पंगत। भोजन के नाम पर एक पत्तल पर दोने में पेज और रोटी का पाव टुकड़ा। फिर भी चाव से... आगे पढ़े

शहीदों के बलिदान को याद कर रहा है पूरा देश

Updated on 26 July, 2018, 13:27
  नई दिल्ली  । कारगिल की चोटी पर पाकिस्तानी सेना को परस्त कर तिरंगा लहराने वाले हमारे वीर जवानों को आज पूरा देश याद कर रहा है। 1999 में दुश्मन देश को धूल जटाकर अपने प्राण न्योछावर करने वाले शहीदों की याद में पूरा देश कारगिल विजय दिवस माना रहा है।द्रास... आगे पढ़े

कल की पत्रकारिता और आज के मीडिया में कुछ फर्क है क्या ?

Updated on 29 May, 2018, 23:40
  सामाजिक सरोकारों तथा सार्वजनिक हित से जुड़कर ही पत्रकारिता सार्थक बनती है। सामाजिक सरोकारों को व्यवस्था की दहलीज तक पहुँचाने और प्रशासन की जनहितकारी नीतियों तथा योजनाआें को समाज के सबसे निचले तबके तक ले जाने के दायित्व का निर्वाह ही सार्थक पत्रकारिता है। करीब करीब दो सौ साल पहले... आगे पढ़े

माँ सुई धागे की परंपरा को आगे बढाती है- --

Updated on 13 May, 2018, 6:54
विश्व माँ दिवस पर विशेष (मई का द्वितीय रविवार)- कहते है ,माँ को जब ठण्ड लगती है तो वह अपने बच्चों को स्वेटर पहनाती है। जब घर में मिठाई के चार पीस हो और खाने वाले पांच तो सबसे पहले मिठाई खाने का आज मन नहीं कहने वाली माँ होती है।... आगे पढ़े

नृत्य के आत्मा की चमक अब इस दुनिया में नहीं रहीं

Updated on 11 May, 2018, 7:33
  शास्त्रीय नृत्यांगना और कोरियोग्राफर पद्म श्री-पद्म भूषण श्रीमती मृणालिनी साराभाई अब नहीं रही.97 वर्ष की इस महान हस्ती के बेटी, मल्लिका साराभाई ने फ़ेसबुक पे पोस्ट किया, “मेरी माँ मृणालिनी साराभाई हूमें छोड़ अपने अनंत नृत्य के लिए चली गयी.” मृणालिनी भारतीय स्पेस प्रोग्राम के पिता, श्री विक्रम साराभाई की... आगे पढ़े

रायसेन के इस कीले में मौजूद हैं जौहर के प्रमाण

Updated on 6 May, 2018, 8:38
#6_मई_रायसेन_का_जौहर 06 मई 1532 ई. को रायसेन की रानी दुर्गावति ने 700 राजपूतानियों के साथ दुर्ग पर ही जौहर किया। रायसेन के किले में जौहर हुए, उस समय के साहित्य और जनश्रुतियों में भी इनका उल्लेख है। दुर्गावती के जौहर के समय सिल्हादी का बेटा भूपति राय एक युद्ध अभियान पर गया... आगे पढ़े

मैं मजदूर हूं मजबूर नहीं

Updated on 1 May, 2018, 18:52
   नई दिल्ली: लेबर डे (International Labour Day) हर साल 1 मई को मनाया जाता है. इस दिन मजदूरों की मेहनत और सच्‍ची लगन को नमन कर जश्‍न मनाया जाता है. मजदूर दिवस (Labour Day) के दिन वाद-विवाद, भाषण और कविता-पाठ प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है. आर्ट एग्‍जीबिशन, रंगारंग कार्यक्रमों... आगे पढ़े

जीव मात्र के प्रति करुणा महादेवी वर्मा

Updated on 27 April, 2018, 15:10
    महादेवी वर्मा (26 मार्च, 1907 — 11 सितंबर, 1987) हिन्दी की सर्वाधिक प्रतिभावान कवयित्रियों में से हैं। वे हिन्दी साहित्य में छायावादी युग के प्रमुख स्तंभों जयशंकर प्रसाद, सूर्यकांत त्रिपाठी निराला और सुमित्रानंदन पंत के साथ महत्वपूर्ण स्तंभ मानी जाती हैं।[1] उन्हें आधुनिक मीरा भी कहा गया है।[2] कवि... आगे पढ़े

सहगल संगीत के कुंदन

Updated on 11 April, 2018, 8:32
 सहगल की आवाज़ की लोकप्रियता का यह आलम था कि कभी भारत में सर्वाधिक लोकप्रिय रहा रेडियो सीलोन कई साल तक हर सुबह सात बज कर 57 मिनट पर इस गायक का गीत बजाता था। अन्य जानकारी   भारत रत्न सम्मानित लता मंगेशकर सहगल की बड़ी भक्त हैं। वह चाहती थीं कि... आगे पढ़े

जातिवाद 'गुलामगिरी' है

Updated on 11 April, 2018, 8:26
   ज्योतिबा फुले का जन्म 11 अप्रॅल, 1827 ई. में पुणे में हुआ था। उनका परिवार कई पीढ़ी पहले सतारा से पुणे फूलों के गजरे आदि बनाने का काम करने लगा था। इसलिए माली के काम में लगे ये लोग 'फुले' के नाम से जाने जाते थे। ज्योतिबा ने कुछ समय... आगे पढ़े

महिलाएं स्वास्थ्य सेवाओं के उपयोग में पुरुषों से पीछे

Updated on 7 April, 2018, 17:40
  गृहिणी पूरे घर का खयाल रखती है, पर बारी जब खुद की आती है तो थोड़ी लापरवाह हो जाती है। नतीजा, बीमारी के रूप में सामने आता है। ज्वाइंट फैमिली में बीमार होने पर परिवार के सभी सदस्य उसकी मदद कर देते हैं। लेकिन, अगर बात हो न्यूक्लियर फैमिली की... आगे पढ़े

विश्व ऑटिज्म जागरूकता दिवस: भारत में ऑटिज्म पीड़ितों की संख्या 10 लाख

Updated on 2 April, 2018, 14:03
  ऑटिज्म एक ऐसी समस्या है, जिससे ग्रस्त लोगों में व्यवहार से लेकर कई तरह की दिक्कतें होती हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि ऐसे लोगों की स्थिति में सामाजिक स्वीकार्यता से सुधार लाया जा सकता है। ऑटिज्म के शुरुआती लक्षण 1-3 साल के बच्चों में नजर आ जाते हैं। 2... आगे पढ़े

गूगल ने भारत की पहली महिला डॉक्टर को उनकी 153वीं जयंती पर डूडल बनाकर किया सलाम

Updated on 31 March, 2018, 7:01
गूगल ने भारत की पहली महिला डॉक्टर आनंदी गोपाल जोशी की 153वीं जयंती पर डूडल बनाकर उन्हें श्रद्धांजलि दी है. आपको बता दें कि अपने पति (गोपाल जोशी) की जिद़ के चलते आनंदीबाई यानि आनंदी गोपाल जोशी ने अमेरिका जाकर बतौर पहली महिला डॉक्टर की डिग्री हासिल की थी. जानें कौन थी... आगे पढ़े

आज चिपको आंदोलन की 45वीं सालगिरह, गूगल पर डूडल

Updated on 26 March, 2018, 10:08
  नयी दिल्ली : दुनिया का सबसे बड़ा सर्च इंजन, गूगल आज चिपको आंदोलन की 45वीं सालगिरह मना रहा है. इस खास दिन की अहमियत समझते हुए और मौके को यादगार बनाने के लिए गूगल ने इसके लिए खास डूडल भी तैयार किया है. गूगल ने अपने इस डूडल में आंदोलन... आगे पढ़े

शहीद दिवस: भगत सिंह से सीखें लाइफ में कैसे खुदको बनाएं सफल

Updated on 23 March, 2018, 8:48
  आज शहीद दिवस के मौके पर क्रांतिकारी भगत सिंह की जिंदगी से हमें कई तरह की प्रेरणाएं मिलती हैं. उनके कई विचार ऐसे हैं, जिनसे किसी के भी रोंगटे खड़े हो सकते हैं. भगत सिंह का मानना था कि जिंदगी तो सिर्फ अपने दम पर ही जी जाती है. शहीद भगत... आगे पढ़े

गूगल ने कात्सुको सारुहाशी को डूडल समर्पित किया

Updated on 22 March, 2018, 10:20
  नई दिल्ली: गूगल ने गुरुवार को कात्सुको सारुहाशी को डूडल समर्पित किया है. कात्सुको सारुहाशी जापानी वैज्ञानिक थीं, जिन्होंने समुद्री जल में कार्बन डाइऑक्साइड के स्तर का पता लगाया था. यह खोज उनके सबसे महत्वपूर्ण खोजों में से एक था.सारुहाशी ने अपने शोध के आधार पर यह भी साबित किया... आगे पढ़े

शहनाई की धुन से लोगों में प्यार और शांति भरने वाले उस्ताद बिस्मिल्लाह खां

Updated on 21 March, 2018, 9:37
  शहनाई की धुन से लोगों में प्यार और शांति भरने वाले उस्ताद बिस्मिल्लाह खां का जन्म बिहार के डुमारांव में हुआ था। पत्नी की मृत्यु के बाद प्रख्यात शहनाई वादक बिस्मिल्लाह ने शहनाई को ही अपनी बेगम की तरह चाहा और अपने काम की भगवान की तरह पूजा की। दिलचस्प... आगे पढ़े

ओ री चिरैया, अंगना में फिर आ जा रे...

Updated on 20 March, 2018, 14:33
  हमारे घर-आंगन में फुदकने वाली गौरैया कहीं गुम हो गई है। जिसकी चहचहाहट में प्रकृति का संगीत सुनाई देता था वो अब मुश्किल से दिखाई देती है। पटना [रोशन कुमार राहुल]। हमारे घर-आंगन में फुदकने वाली गौरैया कहीं गुम हो गई है। जिसकी चहचहाहट में प्रकृति का संगीत सुनाई देता था... आगे पढ़े

अंग्रेजों को धूल चटाकर भागने को मजबूर कर दिया था अवंतीबाई ने

Updated on 20 March, 2018, 13:44
  मनोहरथाना. 1857 के स्वतंत्रता आंदोलन में वीरांगना अवंतीबाई का नाम अग्रणी रहा है। महारानी ने अंग्रेजों को धूल चटाकर भागने पर मजबूर कर दिया था। रानी अवंतीबाई का जन्म मध्यप्रदेश के सीवनी के गांव मनकेहड़ी में 16 अगस्त 1831 को हुआ था। इनके पिता मनकेहड़ी के जमींदार राव जुझाारसिंह थे।... आगे पढ़े

गोपाल कृष्ण गोखले पुण्यतिथि: महात्मा गांधी और जिन्ना दोनों मानते थे उन्हें अपना राजनीतिक गुरु

Updated on 19 February, 2018, 9:41
आज महान स्वतंत्रतासेनानी गोपाल कृष्ण गोखले की पुण्यतिथि है। गोखले मोहनदास करमचंद गांधी और मोहम्मद अली जिन्ना के राजनीतिक गुरु थे। गोखले भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेताओं में थे।गोपाल कृष्ण गोखले, ये वही नेता हैं जिसने सरकार द्वारा किसानों के हित के लिए बताए जा रहे विधेयक के... आगे पढ़े

छत्रपति शिवाजी - 15 साल की उम्र में 3 किलों पर कर लिया था कब्जा

Updated on 19 February, 2018, 9:38
भारत में एक से बढ़कर एक वीर योद्धा हुए हैं। इन वीर योद्धाओं में छत्रपति शिवाजी एक हैं। शिवाजी माराठा सामाज्य को संस्थापक के रूप में भी जाना जाता है। 19 फरवरी 1630 में शिवाजी का जन्म पुणे के जूनार में शिवनेरी के पहाड़ी किले में हुआ था। उनकी माता... आगे पढ़े

भारत कोकिला सरोजिनी नायडू

Updated on 13 February, 2018, 11:56
  'भारत कोकिला' के नाम से प्रसिद्ध श्रीमती सरोजिनी नायडू का जन्म 13 फरवरी 1879 को हैदराबाद में हुआ था। उनके पिता का नाम अघोरनाथ चट्टोपाध्याय था, जो एक प्रसिद्ध वैज्ञानिक और शिक्षाशास्त्री थे। उनकी माता का नाम वरद सुंदरी था, वे कवयित्री थीं और बंगला में लिखती थीं। मात्र 14 वर्ष... आगे पढ़े

गूगल के डूडल में डॉ. हरगोविंद खुराना

Updated on 9 January, 2018, 10:40
हमारे डीएनए के आवश्यक कार्य और प्रथम सिंथेटिक जीन के निर्माण में अहम भूमिका निभाने वाले भारतीय-अमेरिकी वैज्ञानिक डॉ. हरगोविंद खुराना को गूगल ने डूडल बनाकर सम्मान दिया है। आइये आज इस मौके पर डॉ.खुराना के बारे में जानते हैं... डॉ. हरगोविंद जीवकोशिकाओं के नाभिकों की रासायनिक संरचना के बारे में... आगे पढ़े

कुवेम्पु के नॉवेल पर बनी फिल्म को मिला था बेस्ट फीचर फिल्म का राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार

Updated on 29 December, 2017, 14:14
29 दिसंबर, आज कन्नड़ भाषा के कवि कुप्पाली वेंकटप्पा पुटप्पा का 113वां जन्मदिन है। उनका जन्म 29 दिसंबर, 1904 में मैसूर के कोप्पा तालुक में हुआ था। कुप्पाली वेंकटप्पा पुटप्पा के जन्मदिन पर गूगल ने डूडल भी बनाया है। गद्य और पद्य दोनों ही विधाओं में अपनी लेखनी चलाने वाले... आगे पढ़े