Monday, 22 July 2019, 9:28 PM

संपादकीय

ग्रामीण भारत में डिजिटल इंडिया की चुनौनियां

Updated on 5 October, 2018, 18:18
                       ग्रामीण भारत को समृद्व बनाने एवं योजनाओं को शत प्रतिषत पहुंचाने में डिजिटल इंडिया प्रोग्राम से एक नई क्रांति का संचार हुआ है। वर्तमान सरकार की मंषा भी यही हैै। लेकिन इसके विपरित प्रयास कमतर ही नजर आ रहे... आगे पढ़े

झोपडियों से झाकता 70 साल का विकास

Updated on 1 September, 2018, 12:13
भारत का विकास अभी भी ग्रामीण क्षेत्रों में बहुत कम हो सका है। राजनीतिक दलों ने अरबो रूपए अपनी तस्वीर चमकाने अनावष्क आयोजनों में बर्बाद कर दिए, लेकिन बुनियादी सुविधाओं पर बहुत कम ध्यान दिया। योजनाएं बनती रहीं, धन खर्च होते रहे, पर स्थिति में संतोषजनक बदलाव नहीं  हो सका... आगे पढ़े

"विकास" के आपातकाल में फिर कैलाश का साथ

Updated on 12 March, 2018, 19:02
                                                             योगेन्द्र पटेल आपातकाल के संघर्षशील सेनानी, लोकतंत्र सेनानी संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष कैलाश सोनी का नाम राज्यसभा के लिए चुने जाने... आगे पढ़े

क्या ‘आयुष्मान भारत योजना उम्मीदों को सचमुच पूरा कर पाएगी?

Updated on 4 February, 2018, 16:23
  इसमें कोई संदेह नहीं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बहुत ऊंचा सोचते हैं और अक्सर इससे लोगों को चौंका देते हैं। बेशक इसी राह पर आगे बढ़ते हुए उनके वित्त मंत्री ने लोगों को थोड़े समय के लिए अचंभे में डाला। नए साल के बजट में उन्होंने सरकारी खर्च पर दस... आगे पढ़े

16 माह चाबुक पर चलेंगे मोदी के मंत्री

Updated on 1 September, 2017, 13:55
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में बनी सरकार के मात्र 16 माह बचे हैं, ऐसे में प्रधानमंत्री किसी भी ऐसे नेता को अपनी केबिनेट में नहीं रखना चाहते जो दिल्ली में बैठकर राजनीति करे। इसी के तहत जमीनी नेताओं की तलाश की जा रही है। धनबल, जातिगत, एवं विकास के... आगे पढ़े

पेड़-पौधों को बचाने विशेष संधि की दरकार

Updated on 2 June, 2017, 15:15
अनेकों प्रजाति के पौधों के विलुप्त होने का खतरा मण्डरा रहा है। ऐसा इस लिए हो रहा है क्योंकि इसके चक्र को चलायमान रखने वाले पक्षी खत्म हो रहे हैं। ऐसे में विलुप्त होने का खतरा झेल रहे जानवरों और पौधों को बचाए रखने का एक ही रास्ता है इनके... आगे पढ़े

नर्मदा समृद्धि की अधिष्ठात्री

Updated on 15 May, 2017, 16:20
सृष्टि के सृजन एवं उसके विस्तार में नर्मदा का विशेष योगदान हैं। नर्मदा के विषय में पूर्वजों द्धारा प्राप्त ज्ञान से पता चलता है कि जिस तरह गंगा जी ज्ञान, यमुना जी भक्ति, ब्रह्मपुत्रा तेज, गोदावरी ऐश्वर्य, कृष्णा कामना, के लिए इस धरती पर प्रकट हुईं हैं वहीं माॅ नर्मदा... आगे पढ़े

कम अंक लाना नहीं कमजोरी का प्रतीक

Updated on 11 May, 2017, 15:08
शिक्षा का उद्देश्य स्वावलंबन होना चाहिए लेकिन वर्तमान शिक्षा व्यवस्था का ढर्रा इसके अनुरूप नहीं लगता है। अंग्रेजों की गुलाम प्रवृति वाली शिक्षा को आधुनिक शिक्षा का चोला पहनाकर गली-गली में बांटती शिक्षा व्यवस्था को समझ विद्यार्थियों को अपने मन की सुनना चाहिए। कल 12 वीं कक्षा का परीक्षा परिणाम... आगे पढ़े

लोकतंत्र का मतलब सिर्फ राजनीति नहीं यह भी समझना होगा

Updated on 29 April, 2017, 15:15
आजादी के इतने दिनों बाद भी सर्वजन विकास को लेकर समग्र दृष्टिकोण का अभाव बना हुआ है। ऐसे नेतृत्व समाज में कम ही दिख रहे हैं जो देश की गंभीर सस्याओं को खत्म कर नागरिकों को समृद्ध बनाने में सहयोग प्रदान कर सके। चहुओर बेरोजगारी का दौर चल रहा है।... आगे पढ़े

तो इस बार मप्र में कई विधायकों को नहीं मिलेगा टिकट

Updated on 26 April, 2017, 16:21
भारतीय जनता पार्टी वंशवाद और परिवारवाद की राजनीति से दूर रहने वाला दल है ऐसा माना जाता है। इसी का परिणाम है कि वह चुनावों में नए-नए प्रयोग कर दुनिया का नंबर एक दल के रूप में उभरा है। वर्तमान में दिल्ली के एमसीडी चुनाओं में भी कई पार्षदों के... आगे पढ़े

युवाओं को भा रहा योगी का वैज्ञानिक दृष्टिकोण

Updated on 18 April, 2017, 14:51
भारत का युवा कट्टरवादी  धार्मिक परंपरा से परेशान हो चुका है, राजनीति की बैसाखी कही जाने वाली जातिवादी राजनीति  से परेशान हो चुका है। जनता का समय बर्बाद करते अनावश्यक कर्मकाण्ड से परेशान हो चुका है। इन सब के बीच वेद और विज्ञान की समझ रखने वाले उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री... आगे पढ़े

यशेधरा राजे सिंधिया पर इस्तीफे का दबाव?

Updated on 6 April, 2017, 12:13
संजय सक्सेना  भोपाल। अटेर उपचुनाव में सिंधिया परिवार को अत्याचारी बताने के बयान को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर सीधे हमला करने वाली यशोधरा राजे सिंधिया पर मंत्रीपद से इस्तीफा देने का दबाव बनाया जा रहा है। मुख्यमंत्री समर्थक हालांकि अभी चुप हैं, लेकिन विरोधियों का मानना है कि यदि... आगे पढ़े

कांग्रेस की ब्राह्मण लॉबी फिर बगावत की तैयारी में

Updated on 4 March, 2017, 13:32
संजय सक्सेना कांग्रेस हाईकमान द्वारा नेता प्रतिपक्ष की घोषणा के बाद ब्राह्मण लॉबी बगावत की तैयारी में जुट गई है। पार्टी के कुछ नेताओं ने दिल्ली जाकर केंद्रीय नेताओं से मुलाकात कर अपना पक्ष रखा है। खबर यहां तक आ रही है कि कुछ विधायक बहुत जल्द कांग्रेस छोड़कर भाजपा मेंं... आगे पढ़े

भाजपा के महान अनुशासक नहीं रहे

Updated on 28 December, 2016, 12:16
मप्र भाजपा ने आज अपने सबसे महान अनुशासक नेता सुन्दरलाल पटवा को खो दिया है । अपने क्षेत्र में बाबूजी कहे जाने वाले जननायक को खुद के बीच से चले जाने के बाद पूरे क्षेत्र में गम का माहौल है। स्व. पटवा काफी दिनों से सार्वजनिक एवं राजनीतिक जीवन से... आगे पढ़े

मैखल कन्या को मिलेगा निर्मलता का सामुदायिक अधिकार ?

Updated on 11 December, 2016, 16:52
आज भारत की  सात नदियों में से अनुपम मप्र की जीवन रेखा कहे जाने वाली नर्मदा नदी की स्थिति इतनी खराब हो चुकी है कि प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चैहान को सार्वजनिक मंच से इस को लेकर माफी मांगनी पड़ रही है। अब सवाल यह उठता है कि जिस... आगे पढ़े

तुम मुझे खरीद नहीं सकते मैं मुक्त में बिकता हूॅ

Updated on 10 December, 2016, 13:46
मानव जबतक इस धरती पर अपनी बचकानी हरकतों से बाज नहीं आएगे दुनिया का कोई भी कानून एवं विधान इस संसार से आतंक- भ्रष्टाचार एवं लालच को खत्म नहीं कर पाएगा। इस दुनिया में पागलपन की हद हो चली है। ज्यादातर नागरिक उस सुख की खोज में लगे हैं जो... आगे पढ़े

नोट बंदी: होगा एक नए समुदाय का सृजन

Updated on 12 November, 2016, 14:31
अगस्त 2014 में चीन ने एक बड़े बदलाव के लिए मुद्रा का अवमूल्यन कर दिया था। आज आप देख ही रहे हैं चीन के हर आदमी के हाथ में हुनर एवं रोजगार है। भारत में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी कमजोर अर्थव्यवस्था एवं आर्थिक अधोसंरचना को संतुलित करने सभी बड़े... आगे पढ़े

रियासतें एक हुईं जातियां कब एक होंगी

Updated on 29 October, 2016, 14:12
आजाद भारत को एक विशाल भारत बनाने अब कई जातियों को एक करने का समय आ गया ऐसा प्रतीत हो रहा है। 31 अक्टूबर को भारत के लौह पुरूष एवं देश को एकसूत्र में बांधने वाले सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती है। इससे पूर्व हम आपको बताना चाह रहे... आगे पढ़े

सिर्फ डिग्री- डिप्लोमा हासिल कर लेने वाली शिक्षा से भविष्य को खतरा

Updated on 19 October, 2016, 15:03
भले ही  स्कूल एवं महाविद्याालयों में जाने वाले विद्यार्थियों की संख्या कागजों में बढ़ रही हो लेकिन उसी अनुपात में विद्यार्थी अध्ययन शालाओं में अनुपस्थित रहते है। इस कारण कुछ और नहीं समाज में शिक्षा के प्रति असंवेदना एवं शिक्षण संस्थाओं में उचित व्यवस्था का नहीं हो सकना है। आज... आगे पढ़े

चीन का सामान खरीदें या न खरीदें ?

Updated on 13 October, 2016, 17:34
सामंती शासन के पतन के बाद चीन गणराज जिस दौर से गुजरकर अमेरिका के बाद महाशक्ति कहलाने लगा उसके पीछे कई राज छुपे हैं। भारत भी आज उसी बदलाव की दहलीज पर खड़ा है। भारत के पास आज सबसे बड़ी समस्या जिसे खत्म किया जाना चाहिए इस ओर युवाओं का... आगे पढ़े

विश्व शांति के लिए खतरा है पाकिस्तान

Updated on 20 September, 2016, 16:13
पूरी दुनिया में विश्व शांति दिवस मनाए जाने के 2 दिन पूर्व पाकिस्तान ने भारत पर हमला कर यह बता दिया है कि पाकिस्तान जैसे राक्षसी प्रवृति के देश के रहते विश्व में शांति स्थापित नहीं की जा सकती। आज दुनिया के कई देश  धारणीय भविष्य के लिए धारणीय शांति... आगे पढ़े

कर्म कम फल ज्यादा की आस में दुःखी आज का मानव

Updated on 25 August, 2016, 14:35
आज देशभर में हिन्दुओं के आराध्य-मार्गदर्शक श्री कष्ण का जन्म दिवस है।  इस शुभ अवसर पर मैं आपको कर्मयोग के संबध में अपने अनुभव को सांझा करना चाहता हूं। श्रीमद्भगवद्गीता में कर्मयोग को सबसे श्रेष्ठ माना गया है। गृहस्थ और कर्मठ व्यक्ति के लिए कर्मयोग बड़ा उपयुक्त बताया गया है।... आगे पढ़े

इतने दिनों बाद भी तू रोता क्यों है भाई ...

Updated on 31 July, 2016, 14:51
हिन्दुस्तान के उपन्यास सम्राट कथाकार मुंशी प्रेमचन्द की 136 जयंती पर भारतीयों के साथ-साथ सोशल मीडिया के बड़े स्तंभ गूगल ने भी श्रद्धांजलि अर्पित की है। करे भी क्यों नहीं विपरित परिस्थितियों में भी बाह्रय एवं अतः जगत की बात को जनता के मन की परत तक पहुचाने में जिस... आगे पढ़े

संघ और मीडिया की मांडवली

Updated on 27 June, 2016, 14:35
दुनियाभर में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ का कार्य व्यापक रूप ले रहा है। शायद संघ इसी लिए नहीं चाहता कि अपनी संकीर्ण सोच की कथिम छवी को बनाए रखे। वैश्वीकरण के इस युग में हर नागरिक तक पहुंचने में मीडिया अहम भूमिका निभा रहा है। ऐसे में संघ की नीतियों... आगे पढ़े

...तो आदिवासी नहीं माफिया काट रहे जंगल

Updated on 20 December, 2015, 17:51
देश में जंगल और वन्य जीवों के खात्मे के लिए जंगल में रहने वाले, खासतौर से आदिवासी समुदाय  को जिम्मेदार ठहराया जाता है। लेकिन इस बात को झूठ साबित करने के लिए बालाघाट जिले में हो रही जंगल माफियाओं की गिरफतारी काफी है,जो इस बात को सही साबित कर रही... आगे पढ़े

आज भी अपना हक मांगता आदिवासी समाज

Updated on 15 November, 2015, 14:54
कई शरणार्थियों को अपनी पावन धरा पर समाहित कर देने वाले भारत में आज भी यहां के मूल निवासी अपना अधिकार मांगते फिर रहे हैं। इनता ही नहीं अपनी ही धरा पर लूटते आदिवासी समाज को अपने मूल धर्म को बदलना पड़ रहा है। स्वतंत्रा के बाद से सिर्फ राजनीति... आगे पढ़े

हिंदू शांति प्रेमी है असहिष्णु नहीं

Updated on 7 November, 2015, 15:35
इन दिनों पूरे देश में सहिष्णु कौन और असहिष्णु कौन को लेकर बहश चल रही है। इस बीच समझने वाली बात यह है कि आखीर असहिषुण कौन है। सहिष्णुता का अर्थ है सहन करना और असहिष्णुता का अर्थ है सहन न करना। सब लोग जानते हैं कि सहिष्णुता आवश्यक है... आगे पढ़े

सूचनाओं को डिजीटल क्यों नहीं कर देते

Updated on 12 October, 2015, 12:39
देश में सूचना का अधिकार अधिनियम को लागू हुए दस साल पूरे हो चुके हैं लेकिन अभी भी इस कानून में कई खामियां हैं।  खामियां यह हैं कि अब तक सूचना के अधिकार का पूर्णतः डिजीटलाइजेशन नहीं हो सका है। बारह अक्टूबर साल 2005 को देश में इस महत्वपूर्ण कानून... आगे पढ़े

भारतमाता कर रही मानवतावाद की पुकार

Updated on 11 October, 2015, 16:01
योगेन्द्र पटेल आज संपूर्ण क्रांति के जनक एवं प्रसिद्ध मानवतावादी चिंतक जयप्रकाश नारायण की 113वीं जयंती है।  हम ऐसे महापुरूष का स्मरण करते हुए यह याद दिलाना चाहते हैं कि युवाओं अब समय आ गया है जब हम देश और दुनिया में फैल रहे भ्रष्टाचार ,अत्याचार और अमानवीय व्यवहार क बीच... आगे पढ़े

आरक्षण के बुलबुले से निकलती राजनीति

Updated on 26 August, 2015, 15:27
देश में आरक्षण का मुद्दा सालों से चला आ रहा है। आजादी से पहले ही नौकरियों और शिक्षा में पिछड़ी जातियों के लिए आरक्षण देने की शुरुआत कर दी गई थी। इसके लिए अलग-अगल राज्यों में विशेष आरक्षण के लिए आंदोलन होते रहे हैं। राजस्थान में गुर्जर, हरियाणा में जाट... आगे पढ़े